हमारे बारे में

परिचय बायोसेल अल्ट्रावायटल के "बायोरिसर्च इंस्टीट्यूट" ने, इंसानों के जीवन की प्रत्याशा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए इसकी खोज में, जैव-कोशिकीय यौगिक-आधारित इलाजों और उत्पादों के शोध और विकास के लिए दशकों को समर्पित किया है। इन चिकित्साओं, जो अतीत में विवादास्पद रही हैं, को, उनकी चिकित्सीय प्रभाविकता को धन्यवाद के साथ, ज्यादा स्वीकृति के साथ सत्यापित किया गया है, जिसने चिकित्सा और दुनिया भर में वैज्ञानिक हलकों में सबसे बड़ी रुचि को उत्पन्न किया है।

स्विट्जरलैंड में, 2004 एक मील के पत्थर जैसा साल था, क्योंकि इसने विषय से संबंधित सभी को शोध समेकित करने के लिए सेवा की है, जब अनीता होलर, जो एक वैज्ञानिक हैं जो स्विस सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यालय के साथ सहयोग करती हैं, ने द साइंटिस्ट अखबार में घोषणा की, "हम बहुत संतुष्ट हैं कि भ्रूणीय स्टेम कोशिकाओं पर कानून पारित किया गया था, यह एक वैज्ञानिक केंद्र के तौर पर स्विट्जरलैंड के लिए एक सकारात्मक अधिस्वीकरण दर्शाता है, जो चिकित्सीय प्रयोजनों के लिए कोशिका शोध में एक व्यापक वैज्ञानिक इतिहास वाले एक देश है" और जो अतीत के अविश्वास और मितभाषी नजरिए का प्रत्युत्तर एक वक्तबद्ध फैशन में देता है, जब वैज्ञानिक समुदाय का एक बड़ा हिस्सा जानता है कि कोशिका शोध यहाँ पर पैदा हुआ था।

बायोसेल अल्ट्रावायटल बायोरिसर्च इंस्टीट्यूट के लिए, यह नया कानून पिछले 70+ सालों के दौरान हमारी सभी कोशिशों का एक तरह का विधिसंगतीकरण और दुनिया भर में दूसरे सैकड़ों हजारों वैज्ञानिकों द्वारा मान्यता प्रदान किया जाना दर्शाता है।
हम इसकी तरफ़ इशारा खुद को ज्यादा साख पुरस्कृत करने के घमंडवादी विचार के साथ नहीं करते हैं, लेकिन हमें इस अच्छी खबर जो यह सभी के लिए दर्शाता है, पर अपनी संतुष्टि को छुपाएंगे नहीं।
हमारे वक्त में वैज्ञानिक स्पष्टता को साझा करना सच्चे तौर पर संतोषजनक है।
हम कोशिका चिकित्साओं को वैकल्पिक चिकित्सा के तौर पर परिभाषित करने वाली विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की मौजूदा रिपोर्ट से खास तौर पर खुश हैं। पूरे देय सम्मान के साथ, इसमें कोई शक नहीं है कि हमारे वैज्ञानिक विकासों में पेश किए गए शोध, जिसे हमारे उत्पादों में आगे बढ़ाया गया है, को सिर्फ एक और विकल्प के तौर पर नहीं, पहले से ही केंद्रित किया जाना चाहिए, जिस दौरान वे चिकित्सीय प्रयोजन का ईमानदारी से अनुपालन करते हैं।
डॉ. विलियम हैसेल्टाइन, 2000 और 2004 के बीच जब वो अमरीकी इंसानी जीनोम विज्ञान में अध्यक्ष थे, को वाक्यांश "हम पुनर्योजी चिकित्सा के युग में हैं," शुरु करते हुए सुनने से हमें ख़ुशी होती है, एक शब्द जो पिछले 40 सालों के लिए – वास्तव में, दूर से - उस वक्त पर नैदानिक अध्ययनों के विकास के लिए हमारे शोध की मुहर थी।

विद्वानों और पारंपरिक सिंथेटिक दवाओं के अनुयायियों को, खुराक-प्रतिक्रिया अनुपात की वजह से, उनके सीमित उपचारात्मक असर को स्वीकार करने में कई दशक लग गए थे। औषधीय इलाज बीमारियों को सिर्फ़ प्रकट लक्षणों के हिसाब से सही करने की कोशिश कर रहा है, यह भूलते हुए कि उन विकृतियों का बड़ा बहुमत पहले और बाद की सूक्ष्मता को ले कर चलता है, जिसे बायोसेल अल्ट्रावायटल पर हम लोग प्रकार 1, 2 और 3 कोशिका के विकार कह कर बुलाते हैं। सिर्फ़ संदर्भ प्रयोजनों के लिए, हम उस वैज्ञानिक फ़ोकस पर इशारा करते हैं जो 2-बार नोबेल पुरस्कार विजेता डॉ. लिनस पॉलिंग का विषय पर था, जब वो आणविक बीमारियों के बारे में बोले थे, यह नतीजा निकालते हुए कि ऊतक की लगभग सभी बीमारियाँ संरंचनात्मक कोशिका नुकसान के नतीजा की वजह से प्रकट होती हैं।

एक विश्लेषण जिस पर अतीत में सवाल उठाए गए थे, जो आज ज्यादा वैधता प्राप्त करता है और जो इस प्रख्यात वैज्ञानिक को उनको विचारों को "ज्यादा लंबे समय के लिए जीवित कैसे रहें और बेहतर महसूस कैसे करें" शीर्षक की उनकी बहुत सफल पुस्तक में समझने-में-आसान भाषा और शब्दों में व्यक्त करने तक ले जाता है। संयोग या नहीं, यह शीर्षक "ज्यादा लंबे समय के लिए जीवित रहने के लिए और बेहतर महसूस करने के लिए कोशिकीय इलाज" के तौर पर हमारे उत्पादों की चिकित्सीय कार्रवाई का पात्र बनने के लिए हमारे वैज्ञानिक विवरण से मिलता-जुलता है, जो 1977 के बाद से हमारी ओर से एक तर्क है, जिसे अब साझा करते हुए हमें खुशी है।

बायोसेल अल्ट्रावायटल विभिन्न स्वास्थ्य क्षेत्रों, खास तौर पर निरोधक दवा, में हो रहे सकारात्मक बदलावों और पूरी दुनिया में, खास तौर पर उत्तरी अमरीका में, नए अपरंपरागत इलाजों की स्वीकृति के उच्च स्तर के अच्छे वक्त का जश्न मनाता है।

आख़िर में, हमें यहाँ पर डॉ. एस्कार्डों की विरासत को शामिल करते हुए, उनके वैज्ञानिक आदर्श-वाक्य को पुनर्जीवित करते हुए, गर्व है;

"हमेशा एक अकेली दवा होती है और यह वह एक होती है जो चंगा करती है।"
यह महत्वपूर्ण ऐतिहासिक समीक्षा, नए जीवविज्ञानी सक्रिय संघटकों के हमारे उत्पाद सूत्रों में शामिल करने के बारे में अंतर्राष्ट्रीय चिकित्सा समुदाय को सूचित करने के लिए संपर्क करने के लिए दिए गए एक संदेश के तौर पर कार्य करती है, जो भ्रूणीय सतों से स्टेम कोशिकाओं के पूर्वसूचक हैं, इसके उपचारात्मक असर को बढ़ाने के लिए और जो अब कोशिका क्रिया को पुनर्जीवित, पुनर्जनित और मरम्मत करने के लिए 2सरी और 3सरी पीढ़ी के इलाजों के नए विस्तार का हिस्सा बनाता है, निरोधक और उम्र बढ़ने की रोधी दवा के नए युग को मजबूत बनाते हुए।

संभवत: वैज्ञानिकों की नई पीढ़ियाँ पैदा होनी अभी भी बाकी हैं जो अमरता की जीन की खोज करेंगे। वर्तमान बहुत आशाजनक है, क्योंकि इस अद्भुत उपहार, जो जीवन है, की ऊर्जा को इंसानी जाति के फायदे के लिए, पहले ही उचित तौर पर संरक्षित और वक्त में दीर्घ-कालिक किया जा सकता है।

यह हमारा लक्ष्य है।

© 2017 Biocell Ultravital. Privacy
Like Us on Facebook Follow Us on Twitter